‘सांसद आदर्श ग्राम योजना’ भी बनी ‘जुमला योजना’, आरटीआई से हुआ खुलासा पीएम मोदी ने गोद लिए गांवो में एक भी विकास कार्य नहीं कराया

कई नेताओं द्वारा अबतक देशभर के कई गांव गोद लिए जा चुके है। उस समय गांव के लोगो में उम्मीद जगती है कि अब गांव का कायाकल्प हो जाएगा लेकिन ज़्यादातर ऐसा कुछ नहीं होता और महज़ नाम के लिए नेता इसे गोद ले लेते। अब कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक आरटीआई शेयर कर प्रधानमंत्री मोदी द्वारा गोद लिए गये गांवो की जानकारी दी गई है और उन गांवो में किये गए सभी कामो की जानकारी दी गई है। इसी को लेकर कांग्रेसी नेता ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है।

दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में पीएम मोदी द्वारा गोद लिए गांवो के बारे में अनुज वर्मा को ज़िला ग्राम विकास अभिकरण कार्यालय ने आरटीआई में मांगी गई जानकारिया दी है। आरटीआई के माध्यम से पूछा गया था कि वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री द्वारा गोद लिए गए गांवो की गोद लिए जाने की तिथि और इन गांवो में प्रधानमंत्री की सांसद निधि से किये गये विकास कार्य का विवरण दिया जाए।

इस आरटीआई के जवाब में बताया गया कि प्रधानमंत्री द्वारा जनपद वाराणसी में अबतक कुल 4 ग्रामो को सांसद आदर्श ग्राम योजनान्तर्गत गोद लिया गया है जिसमे जयपुर को 7 नवंबर 2014, नागेपुर को 16 फरवरी 2016, ककरहिया को 23 अक्टूबर 2017 और डोमरी को इसी वर्ष 6 अप्रैल को गोद लिया गया था। इन गांवो में विकास कार्यो की जानकारी देते हुए बताया गया की इन चयनित ग्रामो में प्रधानमंत्री जी की सांसद निधि से कोई भी कार्य नहीं कराए गए है।

अब इसको लेकर कांग्रेस ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर लिखा, ‘मोदीजी, पगलाए ‘विकास’ का सच। एक भी गोद लिए गाँव में आपने सांसद निधि से फूटी कौड़ी नहीं दी। आपके द्वारा ही शुरू की गई ‘सांसद आदर्श ग्राम योजना’ भी बनी ‘जुमला योजना’।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *