असदुद्दीन ओवैसी का बड़ा बयान, राष्ट्रगान की जगह कभी नहीं ले सकता राष्ट्रगीत

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि, हमें कोई ‘भारत माता की जय’ बोलने पर मजबूर नहीं कर सकता है। ओवैसी ने ‘आजतक’ के खास कार्यक्रम ‘सीधी बात’ में श्वेता सिंह से कहा कि, अगर इसके लिए कानून बनाया जाता है तो मैं उसका पालन करूंगा।

उन्‍होंने कहा कि, हमारे संविधान ने फ्रीडम ऑफ स्‍पीच दिया है। अगर आप कानून बना देंगे तो मैं जरूर ‘भारत माता की जय’ लेकिन आप मुझे मजबूर नहीं कर सकते हैं। ओवैसी ने आगे कहा कि, इसे आप मेरी राष्‍ट्रीयता का टेस्‍ट नहीं बना सकते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि, मैं जयहिंद बोलने में फख्र महसूस करता हूं। यह तो अंग्रेजों से लड़े भी नहीं थे, तब से नारा आया है जय हिंद का।मैं अपनी जिंदगी अपने घर में कैसे गुजारता हूं, क्या खाता हूं, क्या बोलता हूंं, यह प्राइवेसी का अधिकार है।

उन्होंने कहा कि, राष्ट्रगीत ‘वंदे मातरम’ की इज्जत होनी चाहिए। लेकिन ‘जगनण मन’ तो राष्ट्रगान है, इसलिए राष्ट्रगीत को कभी राष्ट्रगान की जगह नहीं लाया जाना चाहिए।

हैदराबाद के सांसद ओवैसी ने कहा कि, आज सेकुलरिजम गाली बन चुकी है।एंटी नेशनल भी एक सुविधाजनक गाली है।सरकार से किसी की असहमति है तो उसे इन दोनों में से कुछ भी बोल दो। बाद में जो इनके साथ आ जाते हैं वे सेकुलर हो जाते हैं।

इसके अलावा उन्‍होंने क‍हा कि, मैंने हमेशा मुल्‍क के लिए आवाज उठाई है लेकिन अगर आप बोलेंगे कि मोदी के खिलाफ बोलना मुल्‍क के खिलाफ है तो मैं इसे नहीं मानता हूं।ओवैसी ने कहा कि मोदी को अगर आप खुदा का दर्जा दे देंगे तो, लेकिन मैं नहीं मानता हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *