बड़ा खुलासा: स्वामी अग्निवेश पर हमला करने वाले आरोपियों पर था इस संघ का हाथ

झारखंड के पाकुड़ में पिछले मंगलवार को सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश पर हुए हमले के 8 नामजद आरोपी भाजपा और बजरंग दल से जुड़े हैं। बता दें कि स्वामी अग्निवेश वहां आदिवासी समूह को संबोधित करने जा रहे थे तभी रास्ते में भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला बोल दिया था।

राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मामले की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए थे। द इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी तहकीकत में पाया कि मामले में दर्ज एफआईआर में आठ नामजदों का सीधा संबंध भाजयुमो, भाजपा और उससे जुड़े संगठनों और संघ से है। इनमें से कोई एनजीओ चलाता है तो कोई व्यवसाय करता है। एफआईआर में नामजद और भाजयुमो के पाकुड़ अध्यक्ष प्रसन्न मिश्रा ने कहा कि, अग्निवेश लगातार राष्ट्रीय भावनाओं को आहत करने वाले बयान दे रहे थे। वो नक्सलियों का समर्थन कर रहे थे और पत्थलगड़ी का भी समर्थन कर रहे थे। यह उनके मूल कार्य और सामाजिक आंदोलन से हटकर है। वो यहां चर्च के इशारे पर आदिवासियों को भड़काने आए थे।

अग्निवेश पर हमलावरों में आठ नामजद के अलावा 92 अन्य लोगों पर भी एफआईआर दर्ज हुई है। इंडियन एक्सप्रेस ने आठों नामजदों के बारे में जानकारी के लिए पुलिस अधिकारियों के अलावा बीजेपी के स्थानीय नेताओं से भी बातचीत की। आठ में से तीन नामजद ने भी इंडियन एक्सप्रेस से बात की जबकि पांच से मुलाकात नहीं हो सकी। उन आठों नामजदों के विवरण इस प्रकार हैं:

आनंद तिवारी जो की बीजेपी किसान मोर्चा की झारखंड इकाई का सदस्य है। किसान मोर्चा से जुड़े एक पदाधिकारी ने बताया कि आनंद तिवारी एक एनजीओ चलाता है और साहेबगंज जिले का निवासी है। मूल पेशा किसानी है।

पिंटू दूबे पाकुड़ जिला बजरंग दल का कन्वेनर है। भाजयुमो से जुड़े एक पदाधिकारी ने बताया कि, पिंटू का अपना एक छोटा से कारोबार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *