लोकसभा में भाजपा नेता गडकरी ने किया ऐसा काम की कांग्रेस को भी करनी पड़ी तारीफ

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने आक्रामक अंदाज़ के लिए जाते है और वह मध्य प्रदेश के गुना से सांसद भी है। अब उन्ही के निर्वाचन क्षेत्र से एक मामला सामने आया है जिसपर उन्होंने विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया था। इसके चलते केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री और भाजपा नेता नितिन गडकरी ने सदन में सिंधिया से माफ़ी मांगी है।

दरअसल सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी फोरलेन प्रोजेक्ट के लोकार्पण कार्यक्रम में शामिल हुए थे। शिलापट्टिका पर सांसद का नाम नहीं था। बुधवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर कहा है था कि 23 जुलाई को गुना में मुख्यमंत्री व केंद्रीय मंत्री की मौजूदगी में इस राष्ट्रीय राजमार्ग का शिलान्यास समारोह सम्पन्न हुआ, लेकिन क्षेत्र का निर्वाचित सांसद होने के बावजूद मुझे इस कार्यक्रम से दूर रखा गया, आमंत्रण पत्र में नाम तक नही दिया दिया| यही नही एक निर्वाचित विधायक, श्री महेंद्र सिंह सिसोदिया को धक्के मार कर मंच से उतार दिया गया। सिंधिया ने इसे सांसद के विशेषाधिकार का हनन बताया था और एक नोटिस दिया था।

Image result for scindia

गुरुवार को लोकसभा में शून्यकाल प्रारंभ होते ही कांग्रेस के गुना सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस विषय को उठाया और इस विषय पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से जवाब मांगा. इस पर शोर होने लगा लेकिन, गडकरी ने कहा कि आमंत्रण पत्र पर सिंधियाजी का नाम नहीं था, यह मेरी जिम्मेदारी है, क्योंकि मैं विभाग का मंत्री हूं। गडकरी ने स्वीकार किया कि सांसद आए या न आए, उनका नाम आमंत्रण पत्र में होना चाहिए। मैं विभाग की ओर से क्षमा मांगता हूं।

इसके बाद कांग्रेसी नेता नेता ट्वीट कर लिखा कि धन्यवाद गडकरी जी कि आज आपने संसद में अपने विभाग की गलती स्वीकारते हुए खेद व्यक्त किया। मैं शिवराज सिंह चौहान जी से पूछना चाहता हूँ – क्या आप और आपका प्रशासन अपनी ग़लती नही मानेंगे? लगता है आप तो केंद्रीय मंत्री से भी ऊपर हैं- आपका तो ये मानना है कि आप कभी गलती कर ही नहीं सकते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *