धार्मिक भावनाओं के नाम पर जनता को धोखा? मोदी राज में बीफ एक्सपोर्ट के चौकाने वाले आकड़े आये सामने

वर्ष 2017 में पहलु खान की कथित गोरक्षकों द्वारा पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी. इस घटना के बाद से देश भर में कथित गौरक्षको द्वारा कई घटनाए अंजाम दी गई और न जाने कितने लोगो को अपनी जान गंवानी पड़ी। हाल ही में राजस्थान के अलवर से अकबर उर्फ रक्बर खान की हत्या की घटना सामने आई थी फिलहाल इसपर राजनीत तेज़ है। अब एक बीफ एक्सपोर्ट (निर्यात) का ऐसा आकड़ा सामने आया है जो आपको चौका देगा।

‘द एशियन इंडिपेंडेंट’ में छपी खबर के अनुसार मोदी सरकार में विकसित देशो में भारत द्वारा बीफ का निर्यात दोगुना हो गया है। OECD-FAO कृषि आउटलुक की एक रिपोर्ट से पता चलता है कि “भारत ने 2017 में 1.56 मिलियन टन (15,60,000 टन) बीफ का निर्यात किया था और इसके 2026 में वैश्विक निर्यात के 16 प्रतिशत के लिए जिम्मेदार तीसरा सबसे बड़ा बीफ निर्यातक के रूप में अपनी स्थिति बनाए रखने की उम्मीद है।”

रिपोर्ट के अनुसार मोदी सरकार अच्छे से जानती है कि बीफ कौन एक्सपोर्ट करता हैऔर उनकी सामाजिक पृष्ठभूमि क्या हैं? रिपोर्ट के अनुसार छह सबसे बड़े मांस सप्लायर में चार केवल हिन्दू है. हिन्दू बीफ निर्यात करने में शामिल है बावजूद इसके देश में मुस्लिम समुदाय के लोगो के साथ लिंचिंग की घटनाए सामने आती रहती है। वही गोवा जहां इस समय भाजपा की ही सरकार है वहा खुलेआम बीफ खाया जाता है। वही अभी हाल ही में पीएम मोदी ने रवांडा का दौरा किया था जहां उन्होंने 200 गाये भेंट की थी।

अब सवाल यह उठता है कि एक तरफ भाजपा राज में बीफ का इतना बड़ा एक्सपोर्ट हो रहा है और दूसरी तरफ गौ रक्षा की बात की जाती है। आखिर भाजपा एक चहरा क्यों नहीं अपना रही है? क्या गाय के द्वारा भाजपा केवल चुनावी माईलेज लेना चाहती है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *