गौरी लंकेश की हत्या के आरोपियों को मिली थी यहाँ से ट्रेनिंग, हुआ बड़ा ख़ुलासा

पिछले वर्ष 5 सितंबर को कर्नाटक की मशहूर पत्रकार गौरी लंकेश की उनके घर के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड के सामने आते ही देश में सभी पत्रकारों ने सुरक्षा पर सवाल उठाए थे। अब इस मामले में नया खुलासा हुआ है।

जनसत्ता की रिपोर्ट के अनुसार पत्रकार की हत्या के अभियुक्त परशुराम वाघमारे (26) ने बताया कि कर्नाटक-महाराष्ट्र बॉर्डर के समीप बेलगाम जंगल में कट्टरपंथी हिंदुत्व समूह के सदस्यों ने ट्रेनिंग के समय कम से कम एक शख्स को लंकेश के सर में गोली मारने को कहा गया था, जैसा कन्नड़ स्कॉलर एमएम कुल्बर्गी को गोली लगी थी।

Image result for gauri lankesh

कथित तौर पर लंकेश को गोली मारने वाले शूटर वाघमरे का केस कर्णाटक पुलिस की एसआईटी के पास है। रिपोर्ट के अनुसार वाघमरे ने एसआईटी को बताया कि ट्रेनिंग के समय कम से कम एक वो शख्स शामिल था जो कुल्बर्गी की हत्या में शामिल था। जांच दल को इसके अलावा यह भी पता चला कि वाघमरे को ट्रेनिंग देने वाले सीधे तौर पर कुल्बर्गी हत्याकांड से जुड़े थे।

इससे साफ़ होता है कि वर्ष 2015 में 30 अगस्त को हुई कुल्बर्गी की हत्या और गौरी लंकेश की हत्या करने वाले एक ही विचारधारा के लोग थे। एसआईटी सूत्रों ने बताया कि पूछताछ के दौरान वाघमारे ने कबूल किया है कि उसे कलबुर्गी हत्या की तरह सिर में गोली मारने की ट्रेनिंग दी गई ताकि साफ-साफ निशाना बनाया जा सके।

Image result for gauri lankesh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *