Home > समाचार > भाजपा सांसद का आरोप, लोकसभा में दलितों को मिलता है कम समय

भाजपा सांसद का आरोप, लोकसभा में दलितों को मिलता है कम समय

sadhvi savitri phule,

भाजपा पर विपक्ष के साथ अब भाजपा के अपने ही नेता अपनी पार्टी को कटघरे में खड़ा कर रहे है। हर दिन कोई न कोई आरोप सामने आ रहे है। अब उत्तर प्रदेश के बहराइच संसदीय क्षेत्र से भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट में धरना स्थल पर अपनी पार्टी पर नया आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि लोकसभा में हमलोगो को कम समय दिया जाता है और बहुजन समाज के सांसद अपनी पूरी बात कह नहीं पाते हैं।

दरअसल भाजपा सांसद सावित्री बाई ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी थी और सुबह से ही कलेक्ट्रेट में नीले रंग का पांडाल लग गया। नमो बुद्धाय जन सेवा समिति के बैनर तले आयोजित धरना में आंदोलनकारियों को उन्होंने संबोधित किया। समाचार एजेंसी आईएएनएस की एक खबर के अनुसार उन्होंने कहा कि लोकसभा में अनुसूचित जाति, पिछड़ी जाति, जनजाति, आदिवासी समाज पर जब भी चर्चा होती है, तो हम लोगों को बहुत कम समय दिया जाता है। इसलिए बहुजन समाज के सांसद अपनी पूरी बात कह नहीं पाते हैं। उन्होंने कहा कि हालांकि बहुजन समाज के लोग अपनी बात कहने में पीछे नहीं हैं, बल्कि मैं ये कहूंगी कि बहुजन समाज के सांसदों को आरक्षण बचाने के लिए एकजुट होना चाहिए।

भाजपा सांसद ने अपनी ही सरकार को घेरते हुए कहा कि बाबा साहेब की प्रतिमा तोड़ने वालों की गिरफ्तारी प्रशासनिक अफसरों ने जानबूझकर नहीं की है। सांसद ने कहा कि अपना हक मांगने पर मेरा पुतला फूंका जा रहा है। एक नहीं, हजार पुतला फूंका जाए, मैं डरने वाली नहीं। मैं बहुजन समाज के लिए हक मांगने को तैयार हूं और हमेशा रहूंगी। जब तक जिंदा रहूंगी, तब तक बाबा साहेब आंबेडकर की बात मंजिल तक पहुंचाने का प्रयास करूंगी। जेल में रहूं या बाहर, मैं बहुजन समाज की लड़ाई लड़ती रहूंगी। उन्होंने कहा कि मेरे पास इतनी जमीन नहीं होगी कि मुझे दफना दिया जाए, इतना पैसा नहीं होगा कि कफन खरीद लिया जाए। फिर भी बहुजन समाज के हित के आगे कोई समझौता नहीं करूंगी। बहुजन समाज की बेटी हूं, इसलिए हमारी नहीं सुनी जा रही। सांसद कहती है कि उनको चुप रहने की धमकी मिल रही है उन्होंने कहा कि अगर हम डर गए तो हमारे बहुजन समाज का अधिकार खत्म हो जाएगा। अगर अधिकार पाने के लिए कुर्बान होना पड़ा तो हो जाऊंगी। लेकिन चुप नहीं रहूगी। बाबा साहेब के उद्देश्य को पूरा करने के लिए संघर्ष करूंगी।

भाजपा सांसद ने यह भी कहा कि भारत में अब उन लोगों की जांच होनी चाहिए जो अरबपति हैं, करोड़पति हैं। उनका पैसा विदेश से मंगाया जाए और गरीबों में बांटा जाए। उन्होंने कहा कि भारत में बहुत से ऐसे लोग हैं, जिनके पास अगर श्मशान या कब्रिस्तान न हो तो दफनाने के लिए जमीन नहीं है। सांसद ने न्यायिक सेवा में पिछड़े, अनुसूचित व अल्पसंख्यक लोगों के प्रवेश की मांग उठाई और कहा कि न्यायपालिका में बहुजन की संख्या बढ़नी चाहिए।

Leave a Reply