Home > वायरल > बीके बंसल पर अभिसार शर्मा ने दिया भावुक बयान; बोले, कार्रवाई नहीं हुई क्योंकि बड़े….

बीके बंसल पर अभिसार शर्मा ने दिया भावुक बयान; बोले, कार्रवाई नहीं हुई क्योंकि बड़े….

दो वर्ष पहले बंसल सुसाइड मामले ने मीडिया में सनसनी मचा दी थी। ये कोई आम केस नही था बल्कि एक हाई प्रोफ़ाइल केस था जिसमे अमित शाह तक का नाम सामने आया था। बीके बंसल ने जो सुसाइड नोट छोड़ा था उसने पूरे देश को झकझोड़ कर रख दिया था। अब इस मामले में अभी तक कोई कार्यवाई न होने पर न्यूज़ एंकर अभिसार शर्मा ने अपने फेसबुक और ट्विटर अकाउंट पर एक भावुक ट्वीट किया है।

दरअसल मशहूर एंकर अभिसार शर्मा ने अपने फेसबुक और ट्विटर अकाउंट पर एक अंग्रेजी अखबार की तस्वीर शेयर की जिसकी खबर की हेडलाइन थी नोट के बावजूद बंसल परिवार की आत्महत्या में अब तक कोई एफआईआर नहीं है। इस तस्वीर को शेयर करते हुए पत्रकार अभिसार शर्मा ने लिखा, ‘ये चेहरा हमें हमेशा याद आता रहेगा. सीबीआई ने इतना परेशान किया इस आदमी, उसके परिवार को, के पूरे परिवार ने आत्महत्या कर ली. आरोप था रिश्वत का. मगर ये सज़ा ईश्वर दुश्मन को भी ना दे. बंसल ने सुसाइड नोट मे बाकायदा नाम लिए अधिकारियों के, मगर कोई कार्रवाई नहीं. क्योंकि बड़े लिंक हैं. इनकी जांच कर रहे अधिकारी ने बीजेपी (पार्टी) के सबसे बड़े नेता का हवाला दिया था..’

दरअसल यह घटना वर्ष 2016 सितम्बर की है, जब बीके बंसल ने जब आत्महत्या की थी और उसके साथ एक पांच पन्नो का सुसाइड नोट छोड़ा था। इस सुसाइड नोट में बंसल ने सीबीआई और डीआईजी संजीव गौतम पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के नाम पर धमकी देने का आरोप लगाया था। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बंसल की पत्नी और बेटी पहले ही सीबीआई द्वारा की गई उत्पीड़न से तंग आकर आत्महत्या कर चुके थे। इसके बाद बंसल और उनके बेटे ने आत्महत्या की थी और उनका शरीर उनके अपार्टमेंट से बरामद किया गया था। आत्महत्या से पहले बंसल ने अपने सुसाइड नोट में कई चौकाने वाले खुलासे किए थे।

रिपोर्ट के अनुसार बंसल ने लिखा था, ‘सीबीआई उनकी पत्नी और बेटी पर भी अत्याचार करते थे और तुम्हारी आनेवाली पीढ़िया मेरे नाम से कापेंगी जैसी धमकी भी दिया करते थे।’ उन्होंने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का नाम लेते हुए लिखा था, ‘डीआईजी संजीव गौतम खुदको अमित शाह का आदमी बताता था और कहता था कि मेरा कोई क्या बिगाड़ सकता है। मुझे धमकी देता था कि तेरी पत्नि और डॉटर का वो हाल करेंगे की सुनने वाले भी काप जाएंगे।’ बंसल ने आगे लिखा था, ‘डीआईजी ने एक लेडी अफसर से कहा था कि माँ और बेटी की ऐसी हालत करना की मरने की हालत हो जाए। मैंने कई बार डीआईजी से अपील की लेकिन उसने कहा कि, तेरी पत्नी और बेटी को जिन्दा लाश नहीं बना दिया तो मैं सीबीआई का डीआईजी नहीं।’ बंसल ने अपने सुसाइड नोट में बताया था कि एक हवलदार ने मेरी पत्नी के साथ बहुत गंदा व्यव्हार और अत्याचार किया है। मेरी पत्नी और बेटी को बहुत गंदी गालिया भी दी थी। अगर मेरी गलती भी थी तो मेरी पत्नी और बेटी के साथ ऐसा व्यव्हार नहीं करना चाहिए था।

बंसल ही नहीं उनके बेटे ने भी अपने सुसाइड नोट में काफी हैरान करने वाली बात लिखी थी। उसने लिखा, ‘मैं योगेश कुमार बंसल बहुत ही दुखी और मज़बूरी की स्थिति में सुसाइड करने जा रहा हँ। मुझे इस सुसाइड के लिए मजबूर करने के जिम्मेदार कुछ सीबीआई अधिकारी हैं। उन्होंने इस हद तक मुझे मानसिक रूप से परेशान किया की मुझे यह कदम उठाना पड़ रहा है।’ उसने आगे लिखा, ‘मेरी माँ सत्या बाला बंसल एक बहुत ही विनम्र और धार्मिक महिला थीं। मेरी बहन नेहा बंसल बहुत सीधी-साधी और दिल्ली यूनिवर्सिटी की गोल्ड मेडलिस्ट थी। उन दोनों पवित्र देवियों को भी इन्ही पांचो ने डायरेक्टली और इंडायरेक्टली इस हद तक टार्चर किया, सताया और इस हद तक तड़पाया की उन्हें सुसाइड करना पड़ा। वरना मेरी मम्मी और मेरी बहन नेहा तो सुसाइड के सख्त खिलाफ थी। भगवान से प्राथना करूँगा की ऐसा किसी हस्ते खेलते परिवार के साथ न करना।’

मामले के एक साल बाद हिंदुस्तान टाइम्स ने एक रिपोर्ट छापी थी जिसके अनुसार एक साल बीतने के बाद भी केस ज़्यादा आगे नहीं बढ़ा है और केस में ठीक से छानबीन भी नहीं हुई है। यहां तक कि एक साल बीतने के बाद भी, जिन चार अफसरों का नाम सुसाइड नोट में लिया गया था, उनसे पूछताछ भी नहीं हुई।

अब ये मामला कहां तक पहुंचा है, इसकी जानकारी तो सिर्फ वही बता सकते हैं जिनको इस केस की ज़िम्मेदारी सौंपी गयी थी। गौरतलब है कि बंसल पर आरोप था कि एक कंपनी को गलत तरीके से फायदा पहुंचाने के लिए 9 लाख रुपये की रिश्वत ली थी। आपको ये भी बता दें सीबीआई ने बंसल के दिल्ली स्थित 6 और मुंबई स्थित 2 ठिकानों पर छापे मारकर अन्य आपत्तिजनक चीजों के अलावा लगभग 54 लाख रुपये भी बरामद किए थे। बीके बंसल सीनियर IAS अफसर थे और कॉर्पोरेट अफेयर्स के डायरेक्टर जनरल की पोस्ट पर तैनात थे।

Leave a Reply