Home > समाचार > मुस्लिम-दलित एकता पर जिग्नेश मेवानी के इस बयान ने मोदी-योगी खेमे में मचाई हड़कम्प

मुस्लिम-दलित एकता पर जिग्नेश मेवानी के इस बयान ने मोदी-योगी खेमे में मचाई हड़कम्प

गुजरात के वडगाम से विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवानी ने मुसलमानो और दलितों की एकजुटता पर ज़ोर दिया है। उन्होंने कहा कि अगर यह दोनों एक हो जाएं तो वह ना योगी आदित्यनाथ दोबारा मुख्यमंत्री बनेंगे और ना ही 2019 में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री।

सोमवार को मेरठ के चौधरी चरण सिंह पार्क में भीम आर्मी के अध्यक्ष चंद्रशेखर की आजादी की मांग को लेकर एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था जिसमें जिग्नेश मेवानी ने हिस्सा लिया था।

एडीआर रिपोर्ट: मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ सबसे ज़्यादा अपराधिक मामले हैं दर्ज

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिग्नेश मेवाणी ने कहा कि अगर 1 अप्रैल तक चंद्रशेखर को आजाद नहीं किया जाता है तो 14 अप्रैल को ना सिर्फ सीएम योगी आदित्यनाथ का काफिला रोका जाएगा बल्कि उन्हें बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की मूर्ति को हाथ भी नहीं लगाने दिया जाएगा।

कासगंज हिंसा के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि वहां 80 फ़ीसदी से ज्यादा दलित, पिछड़े और मुसलमानों को गिरफ्तार किया गया है अगर ऐसा ही चलता रहा तो गुजरात मॉडल से खराब योगी मॉडल साबित होगा।

लखनऊ विश्वविद्यालय ने जारी किया फरमान वैलेंटाइन डे के दिन छात्रों के लिए बंद रहेगा परिसर

उन्होंने कहा कि अगर गुजरात में दलितों को आवंटित जमीन पर वहां की सरकार एक अप्रैल तक कब्जा नहीं दिला पाई, तब वह बड़ा आंदोलन करेंगे। इसी तरह अगर यूपी सरकार एक अप्रैल तक चंद्रशेखर को रिहा नहीं करती है, तब यहां भी आंदोलन किया जाए। दोनों जगह वादे पूरे नहीं होने पर सीएम रुपाणी और योगी की कार के आगे लोग लेट जाएं। उन्हें दोनों प्रदेश में कभी भी डॉक्टर आंबेडकर की प्रतिमा को छूने तक नहीं दें।

Leave a Reply