Home > विशेष > जिस शख्स के हाथ में है कर्नाटक का भविष्य, जाने कौन है कर्नाटक के राज्यपाल?

जिस शख्स के हाथ में है कर्नाटक का भविष्य, जाने कौन है कर्नाटक के राज्यपाल?

karnataka governor

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए 12 मई को हुए मतदान के बाद अब आज यानि मंगलवार 15 मई को चुनाव नतीजे सामने आये। हालांकि शुरुवाती रुझानो को देख ऐसा लग रहा था कि भाजपा अकेले दम पर बहुमत हासिल कर लेगी लेकिन अब भाजपा की रफ़्तार पर ब्रेक लगता दिखाई दे रहा है और दूसरे नंबर की कांग्रेस और तीसरे पर जेडीएस के गठबंधन करने की स्थिति सामने आ रही है। हालांकि कर्नाटक में किसको सरकार बनाने के लिए निमंत्रण दिया जाएगा इसका फैसला कर्नाटक के राज्यपाल के हाथ में होगा। यह राज्यपाल के ऊपर निर्भर करता है कि वह किस दल को आमंत्रित करते है। लेकिन क्या आप राज्यपाल के बारे में जानते है? अगर नहीं तो पूरी स्टोरी पढ़े,

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार कर्नाटक के मौजूदा राज्यपाल वजुभाई राजकोट के एक व्यापारी परिवार से ताल्लुक रखते हैं। स्कूल के समय में ही वो आरएसएस से जुड़ गए थे। 26 साल की उम्र में वो जनसंघ से जुड़े और उसके बाद बहुत जल्द ही वे केशुबाई के क़रीबी हो गए. वे राजकोट के मेयर भी रहे. 1985 में पहली बार उन्होंने विधानसभा चुनावों के लिए नामांकन दाख़िल किया। इस सीट से वो सात बार जीते।

वजुभाई को उनके जादुई भाषणों के लिए जाना जाता है और साथ ही उन्हें लोगों की भीड़ जुटाने में माहिर समझा जाता है। हालांकि वजुभाई अपने कुछ बयानों के चलते विवादों में भी रहे। मैसूर में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने लड़कियों को फ़ैशन से दूर रहने की सलाह दी थी और कहा था कि कॉलेज फैशन करके आने की जगह नहीं है। उनके इस बयान पर काफी विवाद खड़ा हुआ था।

आपको बता दें कि जिस समय पीएम मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे उस समय कर्नाटक के मौजूदा राज्यपाल वाजुभाई वहा वित्तमंत्री थे। सीएम के तौर पर नरेंद्र मोदी ने 13 साल तक सत्ता संभाली और इस दौरान 9 साल तक वाजुभाई वित्त मंत्री रहे। यही नहीं वह वर्ष 2005-2006 के बीच वजुभाई राज्य में बीजेपी प्रमुख भी रहे। उनके नाम एक रिकॉर्ड भी दर्ज है कि उन्होंने 18 बार राज्य का बजट पेश किया। वाजुभाई ने वर्ष 2001 में मोदी के पहले विधानसभा चुनाव के लिए अपनी राजकोट की सीट भी छोड़ दी थी।

Leave a Reply