जनवरी 21, 2022
डॉन अल चापो की पत्नी उम्र क़ैद से बचीं, पश्चात्ताप देख अदालत ने दी राहत और शुभकामना

डॉन अल चापो की पत्नी उम्र क़ैद से बचीं, पश्चात्ताप देख अदालत ने दी राहत और शुभकामना

अमेरिका में उम्र क़ैद की सज़ा काट रहे मेक्सिको के खूंखार डॉन “अल-चापो” की पत्नी को इस गिरोह की मदद करने के जुर्म में तीन साल जेल की सज़ा सुनाई गई है.

32 साल की एमा कोरोनेल एसपूरो ने इस साल जून में अपना अपराध स्वीकार कर लिया था. उन्होंने ये भी मान लिया था कि उन्होंने अपने पति को मेक्सिको की जेल से भागने में मदद की थी. अल चापो अभी अमेरिका के कोलोरैडो राज्य की जेल में उम्र क़ैद की सज़ा काट रहे हैं.

एमा को इन आरोपों के लिए पति की ही तरह आजीवन कारावास की सज़ा हो सकती थी, मगर सरकारी वकीलों ने उन्हें पश्चात्ताप करता देख कम सज़ा दिए जाने की माँग की थी. अदालत के दस्तावेज़ों के अनुसार, ब्यूटी क्वीन रह चुकीं कोरोनेल एसपूरो ने अपने पति गुज़मैन और सिनालोआ कार्टेल या गिरोह के साथ कोकीन, मेथाम्फेटामाइन, हेरोइन और गांजे को अमेरिका लाने और इससे हुई कमाई को बाहर निकालने के लिए साज़िश रची. अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक़, अल चापो का कार्टेल अमेरिका में सबसे ज़्यादा ड्रग्स लाने के लिए ज़िम्मेदार था.

अधिकारियों का ये भी मानना था कि उन्होंने 2015 में अपने पति की मेक्सिको की एक अति-सुरक्षित जेल से भागने में, जेल के पास ही एक संपत्ति ख़रीदकर मदद की. इसके बाद अल चापो सुरंग में चलने के लिए ख़ास तौर पर बनाई गई एक मोटर साइकिल पर सवार होकर जेल से भाग निकले. गुज़मैन को तब ऐसी सुरंगों के ज़रिए जेल से इस प्रॉपर्टी तक पहुँचने में कामयाबी मिली थी जिसमें हवा और रोशनी का प्रबंध था और एक मोटरसाइकिल भी मौजूद थी. एमा ने उन्हें एक जीपीएस लगी घड़ी भी दी थी जिससे सुरंग खोदने वालों को अल चापो तक पहुंचने की सटीक जानकारी मिली. अल चापो का भागने के बाद कई महीनों तक पता नहीं चला और बड़े नाटकीय तरीक़े से वो इसके बाद हॉलीवुड अभिनेता शॉन पेन के साथ एक इंटरव्यू में नज़र आए.

मंगलवार को वॉशिंगटन की एक अदालत में सज़ा सुनाए जाते समय एमा कोरोनेल एसपुरो ने दुभाषिये की मदद से स्पेनिश भाषा में कहा कि “उन्हें किसी को भी नुक़सान पहुँचाने के लिए सच्चे मन से अफ़सोस” है. फ़ेडरल प्रोसेक्यूटर एंथनी नारडोज़ी ने इससे पूर्व इस महीने उन्हें ये कहते हुए चार साल की सज़ा देने की माँग की थी कि उन्होंने जो किया वो बेशक “गंभीर” था, मगर उनकी भूमिका बहुत कम थी और उन्होंने “बहुत जल्दी अपने आपराधिक कृत्य की ज़िम्मेदारी मान ली”. जज रुडॉल्फ़ कॉन्ट्रेरास ने मंगलवार को उन्हें तीन साल की सज़ा सुनाई. उन्होंने साथ ही आदेश दिया कि एमा को लगभग 15 लाख डॉलर की संपत्ति ज़ब्त की जाएगी और रिहा होने के बाद चार साल तक निगरानी में रहना होगा. जज ने साथ ही उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि उन्हें उम्मीद है कि वो अपनी दोनों बेटियों की परवरिश”उस माहौल से अलग माहौल में करेंगी जिसमें वो अभी हैं”. एमा के वकील ने अदालत में साथ ही कि एमा यदि मेक्सिको लौटती हैं तो उनकी ज़िंदगी को ख़तरा हो सकता है क्योंकि मीडिया में ऐसी ख़बरें आई हैं कि उन्होंने अमेरिकी अधिकारियों के साथ सहयोग किया है. वकील ने कहा, “मुझे नहीं लगता वो कभी अपने घर लौट पाएँगीं.”