दिसम्बर 2, 2021
ड्रोन हमले के बाद जम्मू के भीड़ वाले इलाके से मिला देसी बम, जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख ने दी जानकारी

ड्रोन हमले के बाद जम्मू के भीड़ वाले इलाके से मिला देसी बम, जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख ने दी जानकारी

जम्मू के भीड़ भरे इलाके में पुलिस ने एक देसी बम बरामद किया है. जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख ने ये जानकारी दी है. हालांकि दोनों घटनाओं के बीच कोई संबंध है या नहीं. इस पर उन्होंने अभी कुछ नहीं कहा है.

जम्मू: जम्मू एय़र बेस पर ड्रोन हमले के बाद एक अन्य घटना ने पुलिस के कान खड़े कर दिए हैं. जम्मू के भीड़ भरे इलाके में पुलिस ने एक देसी बम बरामद (Crude Bomb Found) किया है. जम्मू-कश्मीर के पुलिस प्रमुख ने ये जानकारी दी है. जम्मू-कश्मीर पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह (Jammu and Kashmir police chief Dilbagh Singh) ने एनडीटीवी को रविवार को ये जानकारी दी. इससे एयरफोर्स स्टेशन पर ड्रोन हमलेकी जांच का दायरा और बढ़ गया है. सिंह ने कहा कि जम्मू एयरफील्ड में हुए ड्रोन हमले में धमाके के लिए पेलोड का इस्तेमाल किया गया. उसके बाद जम्मू पुलिस ने एक देसी बम बरामद किया है. यह आईईडी एक लश्कर सदस्य के पास से मिला है, जो उसे किसी भीड़ भरे बाजार में रखने वाला था.हालांकि दोनों घटनाओं के बीच कोई संबंध है या नहीं. इस पर उन्होंने अभी कुछ नहीं कहा है.

सुरक्षा एजेंसियां आतंकियों द्वारा जम्मू के एयर फोर्स स्टेशन (Indian Air Force Station in Jammu) पर ड्रोन हमले के जरिये किए गए इन धमाकों की जांच कर रही हैं. ये धमाके रविवार तड़के किए गए और इसमें दो लोगों को मामूली चोटें आई हैं. इसमें एक इमारत को भी मामूली रूप से नुकसान पहुंचा है. हालांकि इस विस्फोट ने सुरक्षा एजेंसियों के बीच चिंता पैदा कर दी है, क्योंकि पहली बार किसी सैन्य ठिकाने पर हमले में ड्रोन का इस्तेमाल किया गया है. दिल्ली में सरकार के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि विस्फोट की ताजा घटना को लेकर जांच पहले ही की जा रही है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सुरक्षा स्थिति की समीक्षा कर सकते हैं. सुरक्षा एजेंसियों के साथ सिविल एजेंसियां भी जांच के काम में मदद कर रही हैं. वायुसेना ने ट्वीट कर ये जानकारी दी है. एक धमाके से एक इमारत को मामूली नुकसान पहुंचा, जबकि दूसरा धमाका खुले स्थान पर हुआ. इससे किसी भी उपकरण या संवेदनशील जगह पर कोई नुकसान नहीं हुआ.

यह वाकया ऐसे वक्त हुआ है, जब केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में दोबारा राजनीतिक प्रक्रिया शुरू करने की पहल की है और केंद्रशासित प्रदेश के विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ पीएम मोदी की बैठक हुई थी. इसमें जम्मू-कश्मीर में परिसीमन, राज्य के दर्जे की बहाली और विधानसभा चुनाव के मुद्दे पर चर्चा हुई थी. वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का एक दिन पहले ही लद्दाख दौरा हुआ था.