Home > इंटरनेशनल > उत्तरी सीरिया में सैन्य अभियान जरी रखेगा तुर्की, अमेरिका की इस मांग को किया ख़ारिज

उत्तरी सीरिया में सैन्य अभियान जरी रखेगा तुर्की, अमेरिका की इस मांग को किया ख़ारिज

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोग़ान ने ऑलिव ब्रांच सैन्य अभियान के लिए समय सीमा निर्धारित करने की अमरीका की मांग को ख़ारिज करते हुए कहा, अफ़रीन में आतंकवादियों के सफ़ाए के बाद हमारे सैनिक अपनी सीमा में लौट आयेंगे। उनका कहना है कि यह अभियान अभी जारी रहेगा।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सोमवार को अर्दोगान ने उत्तरी सीरिया में तुर्की के सैन्य अभियान के उद्देश्यों का ज़िक्र करते हुए कहा, तुर्क का उद्देश्य दोनों देशों की सीमा पर शांति स्थापति करना है। तुर्क राष्ट्रपति ने कहा कि हम अफ़रीन में मौजूद ख़तरे से निपटेंगे और हमने रूस समेत अपने सहयोगी देशों को इस विषय से अवगत करा दिया है। तुर्क राष्ट्रपति ने कहा कि इस सैन्य अभियान का लक्ष्य, उन तुर्क छापामारों का दमन करना है जो पूरे क्षेत्र के लिए ख़तरा हैं।

ये भी पढ़ें:  अमेरिकी इंटेलीजेन्स ने भारत को पाकिस्तान के नापाक मंसूबो से किया आगाह

बता दे तुर्की ने सीरिया से लगी अपनी सीमा पर कुर्द बलों से निपटने के लिए ऑलिव ब्रांच नामक सैन्य अभियान शुरू किया है, हालांकि सीरिया ने बिना अनुमति के शुरू किए गए इस अभियान की कड़ी निंदा की है।

यूरोपीय संघ ने यरुशलम मुद्दे पर फिलिस्तीन को दिया आश्वासन

तुर्क सेना शुक्रवार से तोपख़ाना इकाइ से सीरिया के इफ़्रीन शहर में सीरियन डेमोक्रेटिक फ़ोर्सेज़ के ठिकानों पर गोलाबारी कर रही है हलाकि इस हमले पर सीरिया पर निंदा की है और इस हमले के बाद सीरिया के विदेश मंत्रालय ने इसकी निंदा करते हुए घोषणा की है कि तुर्की का यह काम, सीरिया की संप्रभुता का उल्लंघन है।

ये भी पढ़ें:  न्यूयॉर्क में आतंकी हमले में 8 लोगों की मौत, 11 घायल

गौरतलब है सीरिया मामले में अमेरिका की दखल को लेकर तुर्की और सीरिया दोनों ही अमेरिका की आलोचना कर रहे है। सीरिया के राष्ट्रपति ने उत्तरी सीरिया में कुर्दों को लैस करने की अमरीकी कार्यवाही की आलोचना करते हुए कहा था कि कुछ देश, तुर्की की दक्षिणी सीमा पर आतंकवादियों के लिए पास बनाने के प्रयास में हैं।