Home > इंटरनेशनल > श्रीलंका में मुसलमानों पर हो रहे हमले को ले कर अश्विन और महेला जयवर्देने ने किया ट्वीट

श्रीलंका में मुसलमानों पर हो रहे हमले को ले कर अश्विन और महेला जयवर्देने ने किया ट्वीट

भारत के पड़ोसी देश श्रीलंका में इस समय हिंसा का माहौल है। दो समुदायों के बीच हिंसा भड़क गयी और इसके बाद सरकार को आपातकाल की घोषणा पड़ गई। इस घटना पर कई लोगो ने दुःख जताया जिसमे श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी और कप्तान ने हिंसक घटनाओं पर चिंता जताई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बौद्ध एवं अल्पसंख्यक मुस्लिम दोनों समुदायों के बीच पिछले एक साल से ज्यादा समय से तनाव चल रहा है। कैंडी जिले के मेडामहानुवारा निवासी एमजी कुमारसिंघे की मौत के बाद हिंसा भड़क गई थी। कुमारसिंघे बौद्ध समुदाय के थे जिनपर मुस्लिम युवको ने हमला कर दिया था हलाकि स्था नीय मुस्लिम और बौद्ध समुदाय के धार्मिक नेताओं के हस्तबक्षेप से मामले को शांतिपूर्वक सुलझा लिया गया था। इसमें पीड़ित परिवार को मुआवजा भी दिया गया था और हमलावरों को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया। इसके बावजूद 5 मार्च को टेलडेनिया इलाके में सिंहली समुदाय के लोगों ने मुसलमानों के दुकानों में आग लगा दी और हिंसा भड़क गयी थी. इस हिंसा में मुस्लिमो की मस्जिदों और घरो को भी निशाना बनाया गया था।

ये भी पढ़ें:  पत्नी द्वारा अवैध संबंधों के आरोप झेलने के बाद भी शादी की सालगिराह पर शमी ने हसीन जहां से कहा..

इस हिंसा को देखते हुए सरकार के प्रवक्ता दयासिरि ने बताया कि कैबिनेट की एक विशेष बैठक में 10 दिनों के आपातकाल की घोषणा करने का निर्णय लिया गया। सांप्रदायिक हिंसा देश के अन्य इलाकों में फैलने से रोकने के लिए कैबिनेट ने यह निर्णय लिया।’ उन्होंने आगे बताया कि फेसबुक के जरिए हिंसा उकसाने वाले लोगों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी।’ उन्होंने कहा कि कुछ लोग सोशल मीडिया के जरिए माहौल खराब करने की कोशिश में हैं।

इस हिंसा पर श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेला जयवर्देने ने हिेंसक घटनाओं पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया, ‘मैं हिंसक घटनाओं की कड़े शब्दों में निंदा करता हूं। इसमें शामिल प्रत्येिक व्यक्ति को न्याय के कठघरे में लाना चाहिए, फिर चाहे वे किसी भी जाति, धर्म या समुदाय के क्यों न हों। मैं ऐसे समय पला-बढ़ा जब देश सिविल वॉर के दौर से गुजर रहा था। यह लगातार 25 वर्षों तक चला था। मैं नहीं चाहता कि आने वाली पीढ़ी वैसे ही हालात से गुजरे।’

श्रीलंकाई खिलाड़ी के इस सकारात्मक और हिंसक लोगो के खिलाफ किए गए ट्वीट पर लोगो ने उनके ट्वीट का स्वागत किया। लोगो ने उनकी तारीफ की और उनकी बात पर सहमति जताते हुए हिंसा के खिलाफ उनका समर्थन किया है।

ये भी पढ़ें:  कुर्सी जाती देख तोगड़िया ने किया मोदी सरकार पर वार, तोगड़िया की वीएचपी की अध्यक्षता खतरे में

भारतीय क्रिकेटर अश्विन ने भी इस हिंसा पर ट्वीट कर कहा कि श्रीलंका में जो भी हो रहा है अफसोसजनक है। श्रीलंका एक अच्छा देश है जहां अच्छे लोग रहते हैं और जल्द ही वहां अलग धर्मों के लोगों के बीच जारी हिंसा खत्म हो जाएगी। हमे जियो और जीने दो वाला हिसाब रखना चाहिए, और एक दूसरे के अलग विचारों को एक्सेप्ट करके आगे बढ़ना चाहिए। शांति की प्रार्थना करता हूँ।